अनियमित पीरियड्स के लिए 5 घरेलू उपचार - 5 Home Remedies For Irregular Periods

अनियमित पीरियड्स या irregular period ये महिलाओं के पीरियड्स का एक ऐसा हिस्सा है जिसमे पीरियड्स का कोई समय नहीं होता। नियमित पीरियड्स का समय 22 से 30 दिनों में होता है। अनियमित पीरियड्स शरीर में कुछ ऐसे बदलाव के कारण शुरू होते है जैसे की हार्मोनल चेंजेज, वजन बढ़ना, अधिक दवाइयों का सेवन करना, थायराइड की बीमारी और स्ट्रेस ये सभी चेंजेज अनियमित पीरियड्स के कारण बनते है।


अनियमित पीरियड्स के लिए 5 घरेलू उपचार - 5 home remedies for irregular periods – नियमित पीरियड्स कैसे प्राप्त करें – अनियमित पीरियड्स के लिए घरेलू उपाय – अनियमित पीरियड्स को नियमित पीरियड्स कैसे करे – मासिक धर्म के लिए आयुर्वेदिक उपचार – अनियमित मासिक धर्म के लिए घरेलू उपचार


अनियमित पीरियड्स के लिए बहुत से उपाय और उपचार मौजूद है मगर आज हम अनियमित पीरियड्स के लिए 5 घरेलू उपचार के बारे में जानेंगे जो पीरियड्स के समय को नियमित करने में मदद करेंगे। सबसे पहले जान लेते है अनियमित पीरियड्स होने के कुछ कारण


अनियमित पीरियड्स होने के कारण


अनियमित पीरियड्स होने के कारण बहुत से हो सकते है मगर उसमे से कुछ मुख्य कारण नीचे बताए गए है।

  • हार्मोनल में बदलाव अनियमित पीरियड्स होने का कारण हो सकता है।
  • ज्यादा तनाव में रहने से अनियमित पीरियड्स हो सकते है।
  • एक दम से वजन बढ़ना या घटना अनियीत पीरियड्स का कारण बन सकता है।
  • लंबे समय तक ज्यादा दवाइयों का उपयोग अनियमित पीरियड्स होने का कारण बन सकता है।
  • थायराइड जैसी बीमारी अनियमित पीरियड्स होने का कारण बन सकती है।
  • Perimenopause की वजह से अनियमित पीरियड्स हो सकते है।
  • अव्यवस्थित भोजन, अपनी क्षमता से ज्यादा व्यायाम और नींद की कमी अनियमित पीरियड्स के कारण बन सकते है।

अनियित पीरियड्स के लिए 5 घरेलू उपचार जो नियमित पीरियड्स करने में आपकी मदद करेंगे


1. दालचीनी की चाय करेगा नियमित पीरियड्स

सामग्री: दालचीनी की लकड़ी, चाय पत्ती, गुड़ और पानी

स्टील के एक बर्तन में 1 ग्लास पानी ले। उस पानी में दालचीनी की लकड़ी का पावडर बना के डाले। इसी पानी में आधा चम्मच चाय पत्ती डाले और हल्के गेस पर 5 मिनट पकाएं। अब इसमें मीठा करने के लिए जरूरत पुर्ता गुड़ डाले और अच्छे से मिक्स करे।

इस दालचीनी की चाय को दिन में कम से कम 3 मर्तबा उपयोग में ले। दालचीनी शरीर को गरम करता है जिसे आपको अनियमित पीरियड्स को नियमित करने में मदद कर सकती है


2. कच्चा पपीता और दही करेगा नियमित पीरियड्स

एक छोटा कच्चा पपीता लो। इस पपीता के छोटे छोटे टुकड़े करे। पपीता के बराबर दही लो और एक बर्तन में अच्छे से मिक्स करो। दोनो का मिक्सरन अच्छे से होना चाहिए।

अब पीरियड्स आने के 3 दिन पहले से इस दही वाले पपीता को सुबह नाश्ते में और शाम को नाश्ते में सेवन करे। इसी तरह ये घरेलू उपचार अनियमित पीरियड्स को नियमित पीरियड्स करने में आपकी मदद कर सकता है।


3. हल्दी, गुड़, शहद और दूध करेगा नियमित पीरियड्स

एक ग्लास हल्का गरम दूध ले। इस दूध में एक चौथाई चमच हल्दी पाउडर डाले। एक चमच शहद ले और एक चमच गुड़ का चूरा ले। इन सभी घटकों को चमच के सहारे अच्छे से दूध में मिलाए।

इस दूध का सेवन दिन में 2 मर्तबा नियमित रूप से अवश्य करे। ये घरेलू उपचार अनियमित पीरियड्स को नियमित पीरियड्स करने में मददगार साबित हो सकता है।


4. सौंफ और पानी करेगा नियमित पीरियड्स 

एक ग्लास पानी लो और उस पानी में 3 चमच सौंफ डाले। इस पानी को पूरी रात घर में रख दे और जब सुबह उठो तब इस पानी को छान लें। छाने हुए पानी को सुबह खाली पेट नियमित सेवन करे।

इस घरेलू उपचार का रोजाना नियमित सेवन करने से अनियमित पीरियड्स को नियमित पीरियड्स करने में मदद हो सकती है।


5. अदरक, गुड़ और पानी करेगा नियमित पीरियड्स

250ml पानी ले। पानी में 30 ग्राम अदरक के छोटे छोटे टुकड़े डाले और स्वाद अनुसार गुड़ डाले।

हल्के गेस पर इस पानी को उबाले जब उबल जाए तो इस पानी को छान कर सुबह के समय खाली पेट नियमित पिए। रोजाना नियमित इस घरेलू उपचार का सेवन करने से अनियमित मासिक धर्म को नियमित मासिक धर्म चक्र करने में मदद कर सकता है।


चेतावनी: आपको अनियमित पीरियड्स की समस्या है तो आप इन घरेलू उपचार का उपयोग करके अनियमित पीरियड्स में सुधार कर सकते है मगर इन सभी उपचारों का उपयोग करने से पहले आप डॉक्टर्स की मुलाकात ले और ये जानने की कोशिश करे की अनियमित पीरियड्स की समस्या किस वजह से होती है उसके बाद इन घरेलू उपचारो का उपयोग करे। 


अक्सर पूछे गए सवाल के जवाब


1. पीरियड्स रेगुलर न हो तो क्या करे?

जवाब: पीरियड्स रेगुलर करने के लिए कच्चा पपीता और दही का सेवन करे और दालचीनी की चाय का सेवन करना चाहिए।


2. अनियमित पीरियड्स में प्रेगनेंसी हो सकती है क्या?

जवाब: हा अनियमित पीरियड्स में प्रेगनेंसी हो सकती है मगर प्रेगनेंट होने में समय ज्यादा लग सकता है।


3. हम नियमित पीरियड्स कैसे प्राप्त कर सकते है?

जवाब: नियमित पीरियड्स प्राप्त करने के लिए आप दालचीनी की चाय का सेवन कर सकती है।


निष्कर्ष:

इस आर्टिकल में आपको अनियमित पीरियड्स के लिए 5 घरेलू उपचार और अनियमित पीरियड्स होने के कारण जानने को मिले है। मुजे आशा है की आपको इस आर्टिकल में दी गई जानकारी से आपको नियमित पीरियड्स करने में फायदा हो सकता है।

इस आर्टिकल में दी गई जानकारी का उद्देश्य सिर्फ शैक्षणिक है। इस जानकारी को इलाज के तौर पर न माने और आप प्रोफेशनल चिकित्सक से पूछ कर ये जान सकते है की मेरे अनियमित पीरियड्स के लिए ये घरेलू उपचार सही है के नही।


स्वास्थ्य के लिए जरूरी जानकारी

एलो वेरा जूस के आयुर्वेदिक फायदे और नुकसान

कमर दर्द कम करने के लिए बेस्ट 3 योगा


एलोवेरा जूस के आयुर्वेदिक फायदे और नुकसान: स्वास्थ्य के लिए जानिए इसके अद्भुत प्रभाव

 आज हम एलोवेरा के आयुर्वेदिक फायदे और नुकसान के बारे में जानेंगे, जो स्वास्थय पर इसके अद्भुत प्रभाव होते है।एलोवेरा को आज कल से नही सदियों से आयुर्वेदिक उपचार में इस्तेमाल किया जाता है। एलोवेरा को अपने अपने तरीके से उपयोग में लेते है जैसे किसी को कब्ज हो, किसी को स्किन प्रॉब्लम्स हो और किसी को इम्यूनिटी प्रॉब्लम्स हो तो सभी अलग अलग तरीके से इस्तेमाल करते है तो आइए जान लेते है एलोवेरा जूस के आयुर्वेदिक फायदे और नुकसान क्या क्या है।

एलोवेरा जूस के आयुर्वेदिक फायदे – Ayurvedic Benefits of Aloe Vera Juice - एलोवेरा जूस के आयुर्वेदिक फायदे और नुकसान: स्वास्थ्य के लिए जानिए इसके अद्भुत प्रभाव

एलोवेरा जूस के आयुर्वेदिक फायदे – Ayurvedic Benefits of Aloe Vera Juice


1. शरीर रहेगा हाइड्रेट

गरमी के मौसम में एलोवेरा जूस को आयुर्वेदिक नियम अनुसार पीने से शरीर हाइड्रेट हो सकता है। एलोवेरा जूस में एंटीऑक्सीडेंट, मिनरल्स भरपूर होते है जिसे आप एनर्जी ड्रिंक के तौर पर ले सकते है। एलोवेरा जूस से शरीर को ऊर्जा मिलती है।

2. रहेगा शुगर लेवल नियंत्रण

एलोवेरा जूस को आयुर्वेदिक नियम अनुसार पीने से शुगर की बीमारी में शुगर लेवल नियंत्रण में रहता है क्योंकि एलोवेरा जूस में मौजूद अंथ्राक्विनोन इंसुलिन गढ़ता है और दूसरी समस्या भी दूर कर सकता है जिसे शुगर लेवल नियंत्रण करने में सहायक हो सकता है।

3. बढ़ेगी इम्यूनिटी पावर

एलोवेरा जूस का आयुर्वेदिक नियम अनुसार उपयोग में लेने से इम्यूनिटी पावर बढ़ सकता है क्योंकि एलोवेरा विटामिन c से भरपूर होता है और विटामिन c गंभीर बीमारियों से शरीर की रक्षा करता है।

4. शरीर को बचाता है फ्री रेडिकल्स से

फ्री रेडिकल्स से शरीर में कैंसर और अल्जाइमर्स जैसी गंभीर बीमारियां होती है। एलोवेरा जूस में एंटीऑक्सीडेंट भरपूर होते है। एलोवेरा जूस का आयुर्वेदिक तरीके से उपयोग करने से फ्री रेडिकल्स से शरीर को बचाया जा सकता है। 

5. कब्ज से दिलाएगा मुक्ति

एलोवेरा जूस का आयुर्वेदिक नियम अनुसार पीने से प्राकृतिक तरीके से पेट की सफाई होती है और एलोवेरा जूस में एंटी इंफ्लेमेटरी गुण होते है जो आंतो के इन्फेक्शन को ठीक कर सकता है जिसे कब्ज की बीमारी से मुक्ति दिला सकता है।


एलोवेरा जूस के आयुर्वेदिक नुकसान – Ayurvedic Disadvantages of Aloe Vera Juice


एलोवेरा जूस का आयुर्वेदिक नियम से ज्यादा उपयोग करने से नीचे लिखित नुकसान हो सकते है।

  • एलोवेरा जूस का हद से ज्यादा उपयोग करने से पोटेशियम की कमी हो सकती है जिसे हृदय की धड़कन रुक सकती है।
  • एलोवेरा जूस का आयुर्वेदिक नियम से ज्यादा उपयोग करने से लुजमोशन हो सकता है जिसे आपका पेट घातक दर्द का शिकार हो सकता है।
  • गर्भवती महिलाएं और दूध पिलाती महिलाओं को एलोवेरा जूस के उपयोग से बचना चाहिए क्योंकि इसका बुरा प्रभाव बच्चे पर पड़ सकता है।
  • एलोवेरा जूस का आयुर्वेदिक नियम से ज्यादा उपयोग स्किन एलर्जी, चक्कर आना और थकान कैसे साइड इफेक्ट्स हो सकते है।
अगर आप एलोवेरा जूस का उपयोग करते है और आपको किसी भी तरह की अलग प्रक्रिया महसूस होती है तो आप फौरन अपने चिकित्सक की मुलाकात ले।

निष्कर्ष:

आप एलोवेरा जूस का आयुर्वेदिक तरीके से उपयोग करना चाहते है तो आपके लिए ये जानकारी फायदा कारक हो सकती है। मुझे आशा है की आपको एलोवेरा जूस के आयुर्वेदिक फायदे और नुकसान: स्वास्थय के लिए अद्भुत प्रभाव अच्छे से समझ में आए होगे। आप एलोवेरा जूस का आयुर्वेदिक नियम अनुसार उपयोग कर सकते है और इससे होने वाले फायदे हासिल कर सकते है और नुकसान से बच सकते है।


आपके लिए फायदा कारक जानकारी

थायराइड को जड़ से खत्म कैसे करें? जानिए प्राचीन काल के घरेलू उपचार

 थायराइड की बीमारी आज कल की बीमारी नहीं ये बहुत पुरानी बीमारी है। प्राचीन काल में भी थायराइड का उपचार होता था और अभी भी होता आ रहा है।

थायराइड को जड़ से खत्म कैसे करे जानिए प्राचीन काल के घरेलू उपचार में आपको वो उपचार बतावुंगा जिसकी सामग्री सभी के घरों में मौजूद रहती है।

Thyroid photo - thyroid hormone - thyroid symptoms - thyroid test photo - थायराइड फोटो – थायराइड हार्मोन – थायरॉइड फोटो


थायराइड की बीमारी से अचानक वजन बढ़ने या घटने लगता है। गभराने की बात नही है थायराइड से जड़ से छुटकारा पाने के लिए प्राचीन काल का घरेलू उपचार मौजूद है। भारत में बहुत से लोग इस थायराइड की बीमारी से पीड़ित है वो सभी कही न कही प्राचीन घरेलू उपचार का फायदा उठाते है और आप भी उठा सकते है। 


इसे भी जाने:– किडनी स्टोन को जड़ से खत्म कैसे करे? जानिए दादी मां के खास पुराने नुस्खे


ये थायराइड को जड़ से खत्म करने का प्राचीन घरेलू उपाय दोनो प्रकार के थायराइड की बीमारी में लाभदायक है। चाहे कितना भी पुरानी थायराइड की बीमारी हो इस प्राचीन काल के घरेलू उपचार को जरूर आजमाएं।

थायराइड को जड़ से खत्म करने का प्राचीन काल का घरेलू उपचार

1. तुलसी और एलोवेरा

थायराइड के लिए तुलसी के ताजे पत्ते ले और इसी पत्तो का 2 चम्मच रस निकाले। एलोवेरा की 1 चम्मच जेल निकाल ले। दोनो को एक कटोरी में अच्छे से मिक्स करे उसके बाद फौरन इसे पी जाए।

इसी तरह रोजाना इसका उपयोग करे और ये उपचार थायराइड के लिए सबसे उत्तम उपचार है।

2. लाल प्याज

प्याज का रंग अलग अलग होता है जिसे हम पहचानते है उसके रंग से तो आपको लाल रंग की ताजी प्याज लेनी है। प्याज को बिचमे से काट के दो टुकड़े कर दे और रोजाना सोने से पहले इस प्याज से गर्दन पर मालिश करनी है। मालिश करने के बाद गर्दन पर से प्याज को धोए नही ऐसे ही छोड़ दे।

ऐसे रोजाना लाल प्याज की गर्दन पर मालिश करने से थायराइड को जड़ से खत्म कर सकते है।

3. हरा धनिया

हरा धनिया थायराइड को कंट्रोल करता है। इसके लिए आप ऐसे हरा धनिया लो जो ताजे हो और उसमे खुशबू ज्यादा हो। थोड़ा हरा धनिया की चटनी बना लो। एक ग्लास पानी में इस चटनी को मिला ले और तुरंत पी जाए। जब भी आप ये उपचार करे तो धनिया की चटनी ताजी बनाए।

इसी तरह नियमित रूप से हरा धनिया की चटनी का उपयोग कर के आप थायराइड की बीमारी को कंट्रोल कर सकते है।

4. काला मरी

काला मरी मसालों में से एक मसाला है। काला मरी को आप जैसे चाहे वैसे थायराइड की बीमारी के लिए उपयोग में ले सकते है। काला मरी थायराइड की बीमारी में फायदा पहुंचाती है। 

ये चारो घरेलू उपचार प्राचीन काल से थायराइड की बीमारी को जड़ से खत्म करने के लिए किए जाते है। इन सभी प्राचीन घरेलू उपचार की आप नियमित रूप से करते रहिए। इसे आपको जरूर फायदा हो सकता है।


इसे भी जाने:– कमर दर्द के लिए दादी मां के पुराने नुस्खे जो कुछ ही पलों में कमर दर्द ठीक कर के बताएगा


निष्कर्ष:

आज आपने इस लेखन के जरिए थायराइड को जड़ से खत्म करने के प्राचीन काल के घरेलू उपचार को जाना है। मुझे आशा है की आपको कही और जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी। आपको ये जानकारी अच्छे से समझ में आई होगी। ये प्राचीन काल का घरेलू उपचार थायराइड को जड़ से खत्म करने में बहुत क्षमता रखता है। आप इन उपचारों का उपयोग बिना हिच किचाए अपने घर पर ही कर सकते है।

अगर आपको थायराइड की बीमारी में ज्यादा तकलीफ होती है या नही फिर भी आप इन प्राचीन काल के घरेलू उपचार के उपयोग के साथ साथ प्रोफेशनल डॉक्टर की मुलाकात जरूर करते रहीए। 


आपके लिए जरूरी जानकारी 


किडनी स्टोन को जड़ से खत्म कैसे करें? जानिए दादी मां के खास पुराने नुस्खे

 आज कल की हमारी जिंदगी में इतनी दौड़ है की हम क्या खाते है और क्या पीते है उसका जरा सा भी हम ध्यान नही रखते और यही लापरवाही के चलते हमे बहुत सी बीमारियां हमे शिकार बनाती है। इन बीमारियों में से एक गुर्दे में पथरी (kidney stone) की बीमारी है। किडनी स्टोन गुर्दे में जमा हुआ क्षार को कहते है। ये क्षार धीरे धीरे पत्थर में तब्दील हो जाता है जिसे इस बीमारी को इंग्लिश में किडनी स्टोन और हिंदी में गुर्दे की पथरी कहते है। किडनी स्टोन छोटी से छोटी खस खस के दाने जितनी और बड़ी से बड़ी मुर्गी के अंडे जितनी हो सकती है।

Kidney stone - गुर्दे में पथरी – किडनी स्टोन – किडनी स्टोन को जड़ से खत्म कैसे करें? जानिए दादी मां के खास पुराने नुस्खे


हम यहां बात करेंगे किडनी स्टोन को जड़ से खत्म कैसे करे। किडनी स्टोन के इलाज के लिए बहुत सारे तरीके और साइंस मौजूद है उसमे से हम आयुर्वेदिक दादी मां के पुराने नुस्खे से किडनी स्टोन का इलाज करेंगे जो इलाज को चलते किडनी में से स्टोन कब निकल गया उसका भी ख्याल नही आयेगा। 

आप किडनी स्टोन को खत्म करने के लिए दादी मां के नुस्खे का उपयोग करते रहिए और उपयोग के साथ साथ जिन चीजों से परहेज करने का है उसमे परहेज करे जरूर आपको फायदा होगा। तो चलो जान लेते है किडनी स्टोन के लिए दादी मां के खास पुराने नुस्खे जो सबसे अच्छे किडनी में स्टोन का घरेलू उपचार है।

किडनी स्टोन को जड़ से खत्म करने के दादी मां के पुराने नुस्खे

  1. नींबू और सिंधा नमक
  2. छास और सिंधा नमक
  3. गोखरू और शहद
  4. टंकण खार और पानी
  5. नारियल और नींबू
  6. करेला और छाश
  7. पुराना गुड़, हल्दी और छास
  8. कल्थी और सुरोखार
  9. घेहू और चना
  10. काली द्राक्ष

1. नींबू और सिंधा नमक

नींबू और सिंधा नमक किडनी स्टोन को पिघला देता है

एक नींबू का रस निकाल लो। उसमे सिंधा नमक पिगला के इसे खड़े खड़े पी जाओ। ये नुस्खे को दिन में 2 बार पीने से गुर्दे की पथरी पिगल कर पेशाब के साथ निकल जायेगी।

2. छास और सिंधा नमक

200ml गाय के दूध की छास में 1 नॉर्मल साइज चम्मच सिंधा नमक मिलाएं। छास में अच्छे से सिंधा नमक को पिघला दे। नमक पीगल जाए उसके बाद उसे पी ले। ऐसे सुबह और शाम दो टाइम इस नुस्खे को करे। कुछ ही समय में पेशाब के साथ किडनी की पथरी निकल जायेगी। ये किडनी में पथरी का इलाज है।


3. गोखरू और शहद

गोखरू के चूर्ण को 20ग्राम ले उस में शहद मिला के चाटे। इस नुस्खे को दिन में 3 बार करे आपकी किडनी की पथरी पिगल जायेगी।


4. टंकण खार और पानी

टंकण खार का चूर्ण को ठंडे पानी के साथ पीने से पथरी पिगल कर पेशाब के जरिए से निकल जाती है। रोजाना सुबह और शाम इस नुस्खे को करने से जरूर रिजल्ट मिलेगा।


5. नारियल और नींबू

एक ग्लास नारियल पानी में 1 नींबू का रस मिलाएं। इस नुस्खे को रोजाना सुबह के समय पिए। इस नुस्खे से किडनी स्टोन गायब हो जाएगा।


6. करेला और छास

एक कटोरी में करेला का रस निकाल ले। करेला के रस के साथ छास को पिए। इस नुस्खे को दिन में 1 बार करे। आपके गुर्दे की पथरी ठीक हो जाएगी।


7. पुराना गुड़ हल्दी और छास

25 ग्राम पुराना गुड़ ले उसमे चुटकी हल्दी मिलाए और अब इस हल्दी वाले गुड़ को छास के साथ खाए। इस नुस्खे को सुबह और शाम करे। रोजाना इस नुस्खे को करने से आपके गुर्दे की पथरी पिगल कर पेशाब के साथ निकल जायेगी।


8. कल्थी और सूरोखार

कल्थी का सूप बनाए और उसमे चुटकी भर सुरोखर मिलाए और उसे पी जाए। इस नुस्खे से आपकी पथरी पिगल कर पेशाब के साथ निकल जायेगी और गुर्दे की पथरी के कारण जो दर्द होता है वो भी जल्दी से ठीक हो जायेगा।


9. घेहूं और चना 

घेंहू और चना को साथ में उबाल कर काढ़ा बनाएं। इस काढ़ा में चुटकी भर सुरोखार मिलाकर पी जाए। इस नुस्खे को रोजाना करने से गुर्दे की पथरी का चूरा हो जाता है और पेशाब के साथ निकल जाती है।


10. काली द्राक्ष

रोजाना रात को 50ग्राम काली द्राक्ष को भिगाकर रख दे। सुबह में काली द्राक्ष को उसी पानी में अच्छे से मसल दे फिर छान ले। छाने हुए पानी को उसी समय पी जाए। इसी तरह रोज सुबह पीने से आपकी गुर्दे की पथरी निकल जायेगी।

निष्कर्ष:

इस लेखन में किडनी स्टोन के लिए दादी मां के खास पुराने नुस्खे की पूरी जानकारी दी है। मुझे आशा है की आपको और कही जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी क्योंकि यहां से आपने किडनी स्टोन (गुर्दे की पथरी) को जड़ से खत्म करने के दादी मां के खास पुराने नुस्खों को समझ गए होंगे। तो शुरू करे इन नुस्खों को इस्तेमाल करना और किडनी स्टोन और किडनी स्टोन के दर्द से छुटकारा पाए।

इस जानकारी को आगे अपने दोस्तो को शेयर करे ताकि आपका दोस्त या उसके परिवार वाले इसका फायदा उठा सके।

अगर आपको इस दादी मां के खास पुराने नुस्खों से आपको कोई फरक नही दिखता तो आपको चाहिए की तुरंत किडनी के प्रोफेशनल डॉक्टर की मुलाकात ले। 

कमर दर्द के लिए दादी मां के पुराने नुस्खे जो कुछ ही पलों में कमर दर्द ठीक कर के बताएगा

 कमर दर्द से सभी पीड़ित होते जाते है चाहे वो यंग हो या बड़ी उम्र के। घंटो ऑफिस में बैठ कर काम करते या जिंदगी की दौड़ भाग में कोई सेहत का ख्याल नही रखते जिसे कमर की मासपेशियों में कमजोरी आने से कमर दर्द की समस्या होने लगती है। कई लोग फास्ट फूड जैसी चीजें खाते रहते है जिसे उनका वजन बढ़ता है तो कमर पर शरीर का दबाव होने से भी कमर दर्द की समस्या चालू हो जाती है। 

कमर दर्द के लिए दादी मां के पुराने नुस्खे जो कुछ ही पलों में कमर दर्द ठीक कर के बताएगा – kamar dard ke liye dadi maa ke purane nuskhe jo kuch hi palon me kamar dard thik karke batayega - kamar dard ke liye upay - kamar dard ke liye nuskhe - kamar dard ke liye gharelu upay - kamar dard ke liye gharelu nuskhe

जिनको भी कमर दर्द की समस्या है वो टेंशन ना ले। कमर दर्द को ठीक करने के लिए बहुत सी प्राकृतिक वस्तु अपने ही घरों में ही मौजूद होती है जिसका उपयोग करके आप अपनी कमर दर्द में कुछ ही पलों में आराम दे सकते है। आपकी कमर का दर्द चाहे कैसा भी हो इन सभी प्राकृतिक सामग्री का उपयोग चालू करे और अपनी कर दर्द की समस्या में निजात मिलती है। चलो जान लेते है की कमर दर्द के लिए दादी मां के पुराने नुस्खे जो कुछ ही पलों में कमर दर्द ठीक करके बताएगा।

कमर दर्द के लिए दादी मां के पुराने नुस्खे

चाहे जैसा भी कमर दर्द हो कुछ ही पलों में आराम मिल जायेगा। ये खास कमर दर्द के लिए दादी मां के पुराने नुस्खे नीचे निम्न लिखित है जिसका उपयोग कर सकते है।

1. नारियल तेल और लहसुन

  • स्टील के पतीले में नारियल तेल और थोड़ी लहसुन की कलिया ले। इसे गैस पर गरम करे तब तक गरम करे की नारियल तेल काला दिखने लगे। उसके बाद गैस बंद करदे।
  • इस पकाए हुए तेल को ठंडा होने के लिए रखदे। जब ठंडा हो जाए तो कांच की शीशी में भर दे। शीशी का ढक्कन टाइट बंद करे।
  • कमर दर्द आपका ज्यादा हो या कम रोजाना सुबह और शाम इस नारियल और लहसुन से तैयार किया गया तेल की मसाज करे।
  • मसाज कम से कम एक धारी 20 मिनट करे फिर देखो आपका कमर दर्द गायब हो जाएगा।
कमर दर्द के लिए दादी मां के पुराने नुस्खे जो कुछ ही पलों में कमर दर्द ठीक कर के बताएगा


2. गरम पानी और नमक

  • ये सबसे आसान है। पतीले में गरम पानी ले उसमे नमक मिलाएं। नमक को अच्छे से पानी में पिगला दे। इसके बाद इसी पानी में एक कॉटन का टॉवेल भिगाए।
  • आप उल्टे सो जाए और इस टॉवेल को निचोड़े नहीं ऐसे ही अपने कमर पर रख दे। जब तक पानी ठंडा नहीं हो जाता बार बार ऐसे ही टॉवेल को भीगा कर अपनी कमर पर रखे।
  • कुछ ही समय में आपका कमर दर्द ठीक हो जायेगा साथ में कमर की जो मासपेशियों में खिंचाव हुआ होगा वो भी काम हो जायेगा।

3. अजवाइन और गरम पानी

  • जब भी आपकी कमर में दर्द हो तो आप थोड़ी अजवाइन को मुंह में डाल कर चबाए जब चबाले तो हल्का गरम पानी के साथ अजवाइन को निगल जाएं।
  • ऐसे दिन में 4 मर्तबा करने से आपका कमर दर्द गायब हो जाएगा।

4. कमर दर्द को ठीक करने के लिए व्यायाम करे

  • व्यायाम कमर दर्द को ठीक करने में मुख्य भूमिका निभाता है।
  • रोजाना व्यायाम करने से कमर की मासपेशियों में मजबूती बनी रहती है।
  • अगर आपको व्यायाम की जानकारी नहीं है तो इस लिंक पर क्लिक कीजिए आपको सभी कमर दर्द के व्यायाम की जानकारी मिल जाएगी।

5. ध्यान में रखने वाली बाते

  • लंबे समय तक एक ही पोजिशन में न बैठे अगर आप बैठ कर ऑफिस में काम करते हो तो 45 से 50 मिनट बाद थोड़ा हरे फरे ताकि आपकी कमर में दर्द न हो। 
  • ज्यादा सॉफ्ट (नरम) बिस्तर या सोफ़ा का का उपयोग न करे क्योंकि ये कमर के लिए हानिकारक है।
  • ज्यादा नरम बिस्तर और सोफ़ा के उपयोग से स्पाइन डॉक शेपलेस बीमारी होने का खतरा होता है।
  • भारी वजन उठाने से बचे अगर आप का काम भारी वजन उठाने का है तो भारी वजन उठाते समय पैरो को घुटनों से सीधा रखे मोडे नही। 
  • इसी तरह थोड़े समय तक दादी मां के पुराने नुस्खे का उपयोग करने से आपकी कमर दर्द की समस्या खत्म हो जाती है।

Conclusion:

मेने आपको इस लेखन के जरिए कमर दर्द के लिए दादी मां के पुराने नुस्खे बताए है जिसमे जिसमे नारियल तेल और लहसुन, गरम पानी और नमक, अजवाइन और गरम पानी, व्यायाम और ध्यान में रखने वाली बाते बताई है जिससे कमर दर्द आसानी से ठीक हो सकता है।

मुझे आशा है की आपको ये जानकारी समजमे आगयी होगी। अब आपको इन नुस्खों का उपयोग करने में कोई हिचकिचाहट नहीं होगी तो शुरू कीजिए इन दादी मां के पुराने नुस्खे को और अपनी कमर दर्द को ठीक करने में कमियाबी हासिल करे। 


जरूरी जानकारी:

कमर दर्द से आप बहुत परेशान है? तो जानिए कमर दर्द क्यूं होता है, कमर दर्द से तुरंत छुटकारा कैसे पाए और कमर दर्द के लिए एक्सरसाइज

कमर दर्द से आप बहुत परेशान है? तो जानिए कमर दर्द क्यूं होता है, कमर दर्द से तुरंत छुटकारा कैसे पाए और कमर दर्द के लिए एक्सरसाइज 

 "कमर दर्द" कमर दर्द चाहे महिलाओं में हो या पुरुषो में बहुत परेशान करता है। कमर दर्द के कारण न कोई काम कर सकते है या न सही से बैठ सकते है। कमर दर्द मासपेशियों के खिंचाव से होता है। बढ़ती उम्र के साथ कुछ ऐसा काम कर लेते है जिसके कारण मासपेशियां में खिंचाव होता है फिर हमारी कमर में दर्द होना शुरू होता है।कमर दर्द के कारण बहुत से हो सकते है। रोज के काम के साथ साथ कुछ गलतियों के कारण कमर दर्द होना शुरू होता है।

कमर दर्द से आप बहुत परेशान है? तो जानिए कमर दर्द क्यूं होता है, कमर दर्द से तुरंत छुटकारा कैसे पाए और कमर दर्द के लिए एक्सरसाइज – कमर दर्द के लिए एक्सरसाइज – kamar dard ke liye yogasan - kamar dard ke liye yoga - kamar dard ke liye exercise - kamar dard ki exercise


में इस लेखन में कमर दर्द क्यूं होता है, कमर दर्द से तुरंत छुटकारा कैसे पाए और कमर दर्द की एक्सरसाइज को लेकर आया हु तो सबसे  पहले आपको बताऊंगा के कमर दर्द क्यूं होता है।

कमर दर्द क्यूं होता है

कमर दर्द शरीर के निचले हिस्से की मासपेशियाओ के ज्यादा खिंचाव से होता है और कुछ कारण है जिसको नीचे लिखित किया हुआ है जिसे आप जान सकते है। 

  1. नसों में दर्द: शरीर के निचले हिस्से की नसों में जब किसी काम करते वक्त नसों पर दबाव होता है जिसके कारण नसों में दर्द होता है और फिर यही तकलीफ कमर पर असर करती है जिसे कमर दर्द होता है। खास कर स्कीटीका और स्लिप डिस्क के हालात में कमर दर्द बहुत ज्यादा होता है।
  2. बैठने का गलत तरीका: सबकी बैठने का तरीका अलग अलग होता है। जिसमे बैठते वक्त पीठ को आगे की और जुकाने से, कमर को बिना सहारा दिए ज्यादा समय तक बैठे रहने से, लंबे समय तक एक ही जगह पर बैठने से और एक पैर को दूसरे पैर पर रख कर लंबे समय तक बैठे रहने से कमर में दर्द होना शुरू होता है और ऐसे ही चलते रहने से कमर दर्द बढ़ जाता है।
  3. कुछ किडनी समस्याएं: किडनी में जब (पथरी) स्टोन होते है तो इसी समस्या के चलते कमर में दर्द होता है। ऐसे ही किडनी में इन्फेक्शन और किडनी में पॉलिस्टिक की बीमारी होने से कमर में दर्द होता है।
  4. गर्भाशय (यूट्रस) में समस्या: गर्भाशय में जा गांठे बनती है, योनि पर सूजन के कारण, अंडाशय में किसी भी समस्या होने से कमर दर्द होता है।

कमर दर्द से तुरंत छुटकारा कैसे पाए

कमर दर्द से छुटकारा पाने के लिए में आपको कुछ सुझाव देता हु जिसको फॉलो करके आप अपनी कमर दर्द से

  1. आराम करे: जब भी आप की कमर में दर्द होना शुरू हो तो आप अपने शरीर को पर्याप्त आराम दे कुछ ही समय में आपके कमर दर्द में आराम हो जायेगा।
  2. सही बैठने और सोने का तरीका: अगर आपको बैठते समय या सोते समय कमर में दर्द होता है तो आप बैठने और सोने का तरीका सही करे। बैठे तो कमर को पूरा सपोर्ट मिले ऐसे बैठे और जब सोने जाए तो सीधा न सोए करवट बदल कर सोए। इस तरीके से आप कमर दर्द से छुटकारा पा सकते है।
  3. योगा करके: कमर दर्द से छुटकारा पाने के लिए धीरे धीरे योगा करके कमर की मासपेशियों को मजबूत बना सकते है जिसे कमर दर्द से छुटकारा पाने में सफलता मिलती है।
  4. पैन किलर दवाइयां: जब भी आपके कमर में ज्यादा दर्द शुरू हो जाए तो आप कमर की पैन किलर दवाइयां ले सकते है। पैन किलर से कुछ ही समय में कमर दर्द से छुटकारा मिल जाता है मगर ये कुछ समय के लिए होता है।
  5. ज्यादा वजन न उठाए: अगर आपको कमर में दर्द की समस्या है तो आप ज्यादा वजन उठाने का काम न करे। भारी वजन उठाने से मासपेशियो में खिंचाव होता है जिसे आपकी कमर में दर्द होता है जब तक कमर में दर्द रहता है तब तक ये वजन उठाने का काम छोड़ दे।


कमर दर्द के लिए एक्सरसाइज

कमर दर्द के लिए एक्सरसाइज करके आप कमर की मांसपेशियां मजबूत कर सकते है जिसे कमर दर्द की परेशानी हमेशा के लिए खत्म हो जाती है। याद रखे कमर दर्द के लिए एक्सरसाइज धीरे धीरे करे क्योंकि कमर की मांसपेशियां पर कोई बुरा प्रभाव न पड़े। चलो नीचे जान लेते है कमर दर्द के लिए एक्सरसाइज जो मुख्य है कमर दर्द को दूर करने के लिए। 

ध्यान रहे आपको एक्सरसाइज के नियमो का पालन करना होगा। बिना नियम जाने एक्सरसाइज का शरीर पर बुरा प्रभाव पड़ सकता है।

1. भुजंगासन एक्सरसाइज

कमर दर्द से आप बहुत परेशान है? तो जानिए कमर दर्द क्यूं होता है, कमर दर्द से तुरंत छुटकारा कैसे पाए और कमर दर्द के लिए एक्सरसाइज – कमर दर्द के लिए एक्सरसाइज – कमर दर्द के लिए योगा – कमर दर्द की एक्सरसाइज – भुजंगासन आसन – bhujangasan exercise – kamar dard ka yoga


भुजंगासन एक्सरसाइज एक है जिसे कमर दर्द को ठीक करने के लिए किया जा सकता है। भुजंगासन एक्सरसाइज अपनी कमर की मासपेशियों को स्ट्रेच करके मजबूत बनाता है साथ में गर्दन और पीठ के दर्द में भी फायदा देती है।

भुजंगासन एक्सरसाइज कैसे करे

  • योगा मेट पर या कंफर्टेबल जगह पर पेट के बल उल्टे सो जाए।
  • दोनो पैरो को एक दूसरे से चिपक कर रखे।
  • पैरो की उंगलियों को मोडे नही सीधी पीछे की तरफ रखे।
  • अपने दोनो हाथो की हथेलियां छाती की समान बाजू में रखे।
  • धीरे धीरे सांस अंदर लेते हुए हाथो के सहारे छाती को ऊपर उठाए।
  • ध्यान रखे की कमर पर ज्यादा दबाव न पड़े।
  • अपनी गर्दन को सीधी रखे सामने की तरफ।
  • इसी पोजिशन में 20 सेकंड तक रहे इसी बीच सांस अंदर बाहर धीरे से ले और छोड़े।
  • धीरे धीरे सांस को छोड़ते हुए वापस छाती को योगा मेट पर रखे।
  • इसी तरह आपको 10 बार करना है
  • हफ्ते के बाद भुजंगासन के समय को बढ़ा सकते है।
  • अगर आपको भुजंगासन एक्सरसाइज करने से कोई और समस्या होती है तो आप योगा प्रोफेशनल से मुलाकात ले और समस्या का हल निकाले।

2. पवनमुक्तासन एक्सरसाइज

कमर दर्द का मतलब आपकी कमर का कमजोर होना।पवनमुक्तासन एक्सरसाइज कमर की मासपेशियों को मजबूत करती है जिसे कमर दर्द ठीक होने में सहायता मिलती है और पेट में गैस बनता है तो गैस को बाहर निकलने में भी मदद करता है। चलो बताता हु की पवनमुक्तासन एक्सरसाइज कैसे करे।

कमर दर्द से आप बहुत परेशान है? तो जानिए कमर दर्द क्यूं होता है, कमर दर्द से तुरंत छुटकारा कैसे पाए और कमर दर्द के लिए एक्सरसाइज


पवनमुक्तासन एक्सरसाइज कैसे करे

  • योगा मेट पर पीठ के बल सीधे सो जाए।
  • अपने दोनो हाथो को सीधा नीचे रखे।
  • दोनो पैरो को ऊपर उठाए और घुटनों से मोडे।
  • घुटनों को हाथों से पकड़े और अपनी गर्दन को ऊपर उठाए।
  • अपने सर से घुटनों को स्पर्श करने की कोशिश करे।
  • अगर ये नही होता तो जहा तक गर्दन पहुंचे वहा तक कोशिश करे।
  • सांस को अंदर बाहर करने की प्रतिक्रिया धीरे रखे।
  • आजू बाजू में डोले नहीं अपनी पोजीशन बनाए रखे।
  • 25 सेकंड तक इसी तरह अभ्यास करे।
  • अब वापस हाथों से घुटनो को छोड़े और पैरो को वापस सीधे करे।
  • इसी तरह के 5 सेट्स रोजाना करना है।
  • गर्भावस्था वाली महिलाएं पवनमुक्तासन को न करे।
  • गठिया की प्रॉब्लम्स वाले पवनमुक्तासन को न करे।


3. अर्ध कुर्मासन एक्सरसाइज

अर्ध कुर्मासन एक्सरसाइज कमर की मासपेशियों में स्ट्रेच करती है। ये एक्सरसाइज कमर और पीठ की बनावट को मजबूत करती है इस लिए कमर दर्द को कम करने के लिए आप इस अर्ध कुर्मासन एक्सरसाइज को कर सकते है।

कमर दर्द से आप बहुत परेशान है? तो जानिए कमर दर्द क्यूं होता है, कमर दर्द से तुरंत छुटकारा कैसे पाए और कमर दर्द के लिए एक्सरसाइज


अर्ध कुर्मासन एक्सरसाइज को कैसे करे।

  • योगा मेट पर फोटो में जैसे बैठे है वैसे दोनो पैरो को घुटनों को मोड़ कर बैठ जाए।
  • पैरो की उंगलियां पीछे की तरफ सीधी रखे।
  • अपनी कमर को सीधी और टाइट रखे।
  • अपने दोनो हाथो को ऊपर की तरफ उठाए।
  • अब धीरे से सांस लेते हुए आगे की तरफ जुके।
  • अपना मुंह दोनो घुटनो के बीच में आना चाहिए।
  • हाथो को मोडे नही सीधा रखे।
  • इसी पोजिशन में धीरे से सांस अंदर ले और बाहर छोड़े।
  • 25 सेकंड इसी पोजिशन में रहे।
  • फिर वापस पहले बैठे थे वैसी पोजिशन में आइए।
  • ऐसे 25 सेकंड के 5 सेट्स रोजाना करे।
  • नोध: जोड़ों की समस्या वाले, गर्भवती महिलाएं, पीठ में इंजुरी, ज्यादा उम्र के लोगो इन सभी को ये अर्ध कुर्मासन एक्सरसाइज नही करनी चाहिए।

4. पृष्ठस्थली बद्ध कोणासन एक्सरसाइज

पुष्ठस्थली बद्ध कोनासन एक्सरसाइज कमर और पीठ की मासपेशियों को स्ट्रेच करता है जिसे कमर दर्द कम होता है। ये एक्सरसाइज खास कमर की मासपेशियों को मजबूत करता है जिससे कमर दर्द दूर करने में सहायता मिलती है।

कमर दर्द से आप बहुत परेशान है? तो जानिए कमर दर्द क्यूं होता है, कमर दर्द से तुरंत छुटकारा कैसे पाए और कमर दर्द के लिए एक्सरसाइज – पुष्ठस्थली बद्ध कोणासन एक्सरसाइज – pushthsthali badhd konasan exercise - kamar dard ke liye yogasan - kamar dard ke liye exercise - kamar dard ke liye yoga


पुष्ठस्थली बद्ध कोणासन एक्सरसाइज कैसे करे

  • योगा मेट पर दोनो पैरों को आगे की तरफ करके बैठ जाए।
  • दोनो पैरो को जमीन पर लगाए रखे।
  • अब दोनो हाथो से पैरो के पंजे को पकड़े।
  • सर को आगे की तरफ जुकाए यहां तक के सर घुटनो को स्पर्श करे।
  • पैरो को घुटनों से मोडे नही पैरो को सीधा और टाइट रखे।
  • शुरुआत में आपका सिर घुटनो तक नहीं आता तो धीरे धीरे कुछ ही दिनों में घुटनो को स्पर्श करने लगेगा।
  • इसी पोजिशन में धीरे धीरे सांस अंदर बाहर करते रहिए।
  • 30 सेकंड तक इसी तरह अभ्यास करना है।
  • वापस धीरे से बैठ जाए पहले की पोजिशन में।
  • चेतावनी: ज्यादा मोटे लोग, गर्भवती महिलाएं और बड़ी उम्र के लोगो को पृष्ठस्थली बद्ध कोणासन एक्सरसाइज नही करनी चाहिए।

Conclusion:

मेने आपको इस लेखन में कमर दर्द क्यूं होता है, कमर दर्द से तुरंत छुटकारा कैसे पाए और कमर दर्द की एक्सरसाइज बताई है जिसका अभ्यास आप रोजाना सुबह के समय में कर सकते है। मुझे आशा है की आपको कमर दर्द की समस्या का समाधान इस लेखन में मिलगाया होगा और आप अच्छे से समझ गए होंगे। ये सभी एक्सरसाइज महिला और पुरुष आराम से और बे जीजक कर सकते है।


और महत्व पूर्ण जानकारी आपके लिए:


आपकी ब्रेस्ट छोटी है बढ़ती नही तो ब्रेस्ट साइज कैसे बढ़ाएं, जानिए एक्सरसाइज, डाइट, क्रीम और घरेलू उपाय

 ब्रेस्ट साइज कैसे बढ़ाएं, जानिए एक्सरसाइज, डाइट, क्रीम और घरेलू उपाय

 लड़कियां चाहे छोटी उम्र की हो या बड़ी उम्र की, वो ब्रेस्ट साइज को नियंत्रण में रखना चाहती है। ब्रेस्ट साइज बॉडी की फिटनेस के लिए बहुत मायने रहती है। खास कर 17 साल से लेकर 40 साल की उम्र की लड़कियां सभी अपने ब्रेस्ट साइज पर बहुत ध्यान देती है। फिटनेस की दुनिया में परफेक्ट ब्रेस्ट साइज बहुत जरूरी माना जाता है। इस समय फिटनेस का दौर है तो हम ऐसी लड़कियों के लिए पूरी डिटेल्स के साथ जानकारी लेकर आए है जिनके ब्रेस्ट बहुत छोटे है या ब्रेस्ट बड़े ही नही होते वो लड़किया 7 दिनों में ब्रेस्ट साइज बढ़ाकर अपनी फिट बॉडी का सपना पूरा कर सकते है। चलो में यहां आपको 7 दिनों में ब्रेस्ट साइज कैसे बढ़ाये एक्सरसाइज, डाइट, क्रीम, ऑयल और उपाय के बारे में बताता हु जो आपको 7 दिनों में ब्रेस्ट साइज बढाने में मदद करेंगे। पहले थोड़े ब्रेस्ट न बढ़ने के कारण जान लेते हैं।

breast size kaise badhaye - breast size kaise badhaye exercise - breast size kaise badhaye medicine - breast size kaise badhaye in hindi - breast size kaise badhaye oil - breast size kaise badhaye gharelu upay - breast size kaise badhaye tablet - Breast size kitna hona chahiye -Breast na badhne ke Karan - Breast size kaise badhaye diet.

Table Of Content:

1. ब्रेस्ट साइज कैसे बढ़ाएं, जानिए एक्सरसाइज, डाइट, क्रीम और उपाय।
2. ब्रेस्ट न बढ़ने के कारण – Breast na Badhne ke Karan
2.1. तनाव (स्ट्रेस)
2.2. आनुवंशिक विकार ( genetic disorder)
2.3. वजन में कमी 
2.4. प्यूबर्टी का समय
2.5. जीवन शैली और पोषण
3.ब्रेस्ट साइज कैसे बढ़ाएं एक्सरसाइज
3.1. चेस्ट प्रेस एक्सरसाइज
3.1.2. चेस्ट प्रेस एक्सरसाइज कैसे करे
3.2.1. स्कैपुलर एक्सरसाइज
3.2.2. स्कैपुलर एक्सरसाइज कैसे करे
3.3.1. चेस्ट बैंड क्रॉस ओवर एक्सरसाइज
3.3.2. चेस्ट बैंड क्रॉस ओवर एक्सरसाइज कैसे करे
3.4.1.चेस्ट डम्बल फ्लाई एक्सरसाइज
3.4.2. चेस्ट डम्बल फ्लाई एक्सरसाइज कैसे करे
4. ब्रेस्ट बढ़ाने के लिए क्या खाना चाहिए – breast badhane ke liye kya khana chahiye
4.1. कार्बोहाइड्रेट्स (Carbohydrates)
4.2. प्रोटीन (protein)
4.3. फैट्स
4.4. विटामिन और मिनरल्स
5. ब्रेस्ट साइज कैसे बढ़ाएं घरेलू उपाय
5.1. स्वस्थ आहार
5.2. अलसी के बीज
5.3. तेल की मसाज
5.4. एक्सरसाइज करे
5.5. पानी ज्यादा पिए
5.6. स्वस्थ जिंदगी जिए
5.7. टाइट ब्रा पहनना छोड़ दे
6. ब्रेस्ट साइज बढाने की क्रीम – Breast Size Badhane Ki Cream
6.1. EIBHC Women Health Bosom breast cream Supplement with 100% Natural and No Side effects (Cream (100 gm))
6.2. . 7 Days Breast Destressing Cream for Women- Lavender Oil and Rosehip Cream | Body Massage Cream - 100gm
7. Conclusion 


ब्रेस्ट न बढ़ने के कारण – Breast na Badhne ke Karan

ब्रेस्ट न बढ़ना एक नॉर्मल समस्या है। लड़कियों की शरीर में हार्मोनल परिवर्तन के कारण और अपनी जीवन शैली में सावधानी न बरतने से ब्रेस्ट का साइज बढ़ता नही। ब्रेस्ट न बढ़ने के जो कारण है में आपको यहां बतावूंगा बस आप ध्यान से पढ़े और उसे समझने की कोशिश करे। इसी तरह पूरी जानकारी हासिल करे आपको और कही जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी।

1. तनाव (स्ट्रेस)

जो लड़कियां तनाव में रहती है उनमें तनाव का भारी असर उनके हार्मोन पर पड़ता है। जो हार्मोन ब्रेस्ट को बड़ा करने का काम करते है वो एस्ट्रोजन और प्रोजेस्टेरोन हार्मोन होते है। तनाव में रहने से शरीर में कार्टिसोल नामक स्ट्रेस हार्मोन पैदा होता है जिसे इस्ट्रोजन और प्रोजेस्टेरोन हार्मोन पर बुरा असर पड़ता है। जिसके कारण ब्रेस्ट बड़े नही होते।

2. आनुवंशिक विकार ( genetic disorder)

ब्रेस्ट को न बढने का कारण जेनेटिक डिसऑर्डर भी है। जिनकी फैमिली में ये पुश्तैनी समस्या होती है। मतलब ये समस्या सालो से उनके घरमे सभी महिलाओं की ब्रेस्ट छोटी होती है। इन महिलाओं की ब्रेस्ट छोटी रहती है।

3. वजन में कमी 

आपके शरीर का वजन कम रहता है या बढ़ता नही तो ब्रेस्ट साइज पर भी सीधा बुरा असर पड़ता है। ब्रेस्ट में अच्छा फैट भारी मात्रा में होना चाहिए जो वजन की कमी के कारण अच्छे फैट में कमी हो जाती है जिसे ब्रेस्ट छोटे होते जाते है।

4. प्यूबर्टी का समय

प्यूबर्टी का समय एक ऐसा समय है जिसमे ब्रेस्ट का आकार बढ़ता है और इस समय में ब्रेस्ट में डेवलपमेंट होती है। इसी चलते अगर आपको थायरॉइड की बीमारी, वजन में बहुत ज्यादा कमी और एस्ट्रोजन हार्मोन के लेवल की कमी से प्यूबर्टी के समय में ब्रेस्ट बड़े नही होते।

5. जीवन शैली और पोषण

आपका जीवन स्ट्रेस, सुस्ती, चिड़चिड़ापन और कमजोरी से भरा हुआ है तो आपके ब्रेस्ट साइज पर भारी असर पड़ता है जिसे ब्रेस्ट बड़े नही होते। जब भी आप आहार ले तो उसमे भरपूर मात्रा में पोषण तत्व है की नही उस पर ध्यान रखे। आप पोषण तत्वों पर ध्यान नही रखते और आपके ब्रेस्ट को जरूरत पड़ते पोषण नहीं मिलते तो इस कारण ब्रेस्ट नही बढ़ते।

  • ध्यान दे अगर आपके ब्रेस्ट की साइज नही बढ़ती तो आप ऊपर दिए गए सभी कारणों को ध्यान में रख कर आप अपने 7 दिनों में ब्रेस्ट साइज बढ़ाने के सफर में कमियाबी हासिल कर सकते है। चलो अब जानते है, ब्रेस्ट साइज बढ़ाने की एक्सरसाइज बने रहे इस लेखन के साथ।


ब्रेस्ट साइज कैसे बढ़ाएं एक्सरसाइज 

जिन महिलाओं की ब्रेस्ट साइज में बढ़ौती नही होती उनके लिए यहां खास एक्सरसाइज की जानकारी लेकर आए है जिसे आप अपने रोज की रूटीन में शामिल कर के आप अपने ब्रेस्ट साइज बढ़ा सकती हो। हम यहां वही एक्सरसाइज को जानेंगे जो ब्रेस्ट के मसल्स को टारगेट करती है, जिसे ब्रेस्ट की साइज में बढ़ौती हो।

1. चेस्ट प्रेस एक्सरसाइज

breast size kaise badhaye - breast size kaise badhaye exercise - breast size kaise badhaye medicine - breast size kaise badhaye in hindi - breast size kaise badhaye oil - breast size kaise badhaye gharelu upay - breast size kaise badhaye tablet - Breast size kitna hona chahiye -Breast na badhne ke Karan - Breast size kaise badhaye diet - chest press exercise


चेस्ट प्रेस एक्सरसाइज ब्रेस्ट के मसल्स को टारगेट करती है। चेस्ट प्रेस एक्सरसाइज से ब्रेस्ट का टोन बढ़ता है। जिन महिलाओं की ब्रेस्ट बड़ी नही होती वो इस एक्सरसाइज को करके अपने ब्रेस्ट की साइज बढ़ा सकती है।

चेस्ट प्रेस एक्सरसाइज कैसे करे

  • अपना एक पैर बेनचिस पर या बेनचिस की ऊंचाई की दीवार पर रखे।
  • एक पैर नीचे जमीन पर रखे।
  • अपनी कमर को आगे की तरफ जुकाए।
  • कमर और गर्दन सीधी रखे।
  • एक हाथ में डम्बल पकड़े। 
  • आप पहली बार कर रहे है तो डम्बल हल्का वजन का पकड़े।
  • दूसरे हाथ को मुड़े हुए पैर के पास रखे।
  • जिस हाथ में डम्बल पकड़ा है, उसे कोहनी से मुड़कर ऊपर की तरफ उठाए।
  • डम्बल के साथ उठाए हुए हाथ को वापस नीचे करे।
  • दस बार हाथ ऊपर नीचे करे।
  • इसी तरह अपना पैर और हाथ चेंज करे।
  • ऐसे चार सेट करे।

2. स्कैपुलर एक्सरसाइज

breast size kaise badhaye - breast size kaise badhaye exercise - breast size kaise badhaye medicine - breast size kaise badhaye in hindi - breast size kaise badhaye oil - breast size kaise badhaye gharelu upay - breast size kaise badhaye tablet - Breast size kitna hona chahiye -Breast na badhne ke Karan - Breast size kaise badhaye diet - scapular exercise

स्कैपलर एक्सरसाइज शरीर के ऊपरी हिस्सा यानी चेस्ट और कंधा दोनो को टारगेट करती है। ये ब्रेस्ट के मसल्स को इंप्रूव करती है और ब्रेस्ट को टाइट करती है। इसे ब्रेस्ट बढ़ाने में मदद मिलती है।

स्कैपुलर एक्सरसाइज कैसे करे

  • पेट के बल जमीन पर सो जाए।
  • पैरो की उंगलियों पर पैर को सहारा दे।
  • अपने दोनो हाथो के सहारे अपनी बॉडी को ऊपर करे
  • पैरो का सहारा उंगलियों पर रखे।
  • अपनी कमर, हिप्स और गर्दन को सीधी रखे।
  • सामने की तरफ देखे अपना चेहरा हिलाए नही।
  • ऐसे 25 सेकंड इसी पोजिशन में रहे।
  • वापस पेट के बल जमीन पर आ जाए।
  • ऐसे 5 सेट्स करे उसके बाद थोड़ा आराम करे।

3. चेस्ट बैंड क्रॉस ओवर एक्सरसाइज

चेस्ट बैंड क्रॉस ओवर एक्सरसाइज छाती की बीच के मसल को टारगेट करती है। ये एक्सरसाइज ब्रेस्ट के मसल्स बढ़ाती है। चेस्ट बैंड क्रॉस ओवर एक्सरसाइज रोजाना करने से आपके ब्रेस्ट मसल्स टाइट और बड़े होते है।

चेस्ट बैंड क्रॉस ओवर एक्सरसाइज कैसे करे

  • एक मजबूत रब्बर बैंड ले उसे दीवार पर हुक के जरिए फिट करे।
  • रब्बर बैंड को मजबूती से हुक में फिट करे।
  • रब्बर बैंड अपने शरीर के पीछे की साइड में होना चाहिए।
  • रब्बर बैंड को दोनो हाथो से पीछे से पकड़े।
  • दोनो हाथो से खीच के अपने आगे की और लाए।
  • जब रब्बर हाथो से खिचके आगे ले तो अपने हाथो को कोहनी से मोडे।
  • वापस हाथो के ऐसे ही पीछे की तरफ छोड़े।
  • अब ऐसे आपको 30 बार करना है
  • 30 बार के आप 4 सेट्स बना सकते है।

4. चेस्ट डम्बल फ्लाई एक्सरसाइज

ये एक्सरसाइज चेस्ट के पूरे हिस्से को टारगेट करती है। इस एक्सरसाइज को करने से ब्रेस्ट मसल्स को टोन करती है। जिसे आपको ब्रेस्ट बढ़ाने में मदद मिलती है। इस एक्सरसाइज को पूरी चेस्ट के मसल्स के लिए भी किया जाता है।

चेस्ट डम्बल फ्लाई एक्सरसाइज कैसे करे

  • चेस्ट डम्बल फ्लाई एक्सरसाइज करने के लिए ये स्टेप्स फॉलो करे।
  • बेंचीस पर पीठ के बल सो जाए और पीठ को बेंचीस पर प्रेस करके रखे।
  • पीठ को सीधी रखे ऊपर की तरफ न उठने दे।
  • दोनो हाथो में डंबल्स पकड़े अगर आप पहली बार कर रहे है तो डंबल्स का वजन कम होना चाहिए।
  • दोनो हाथो को कोहनी से थोड़ा मोड़ के अपने एक हाथ को लेफ्ट साइड और दूसरे हाथ को राइट साइड में फैलाए।
  • हाथो को पूरा सीधा न करे, कोहनी से थोड़े मोड़ के रखे।
  • अब अपने दोनो हाथो को ऊपर उठाते हुए हाथो को एक दूसरे के सामने लाए।
  • इसी पोजिशन में भी हाथो को सीधा न करे।
  • वापस पोजिशन में हाथो को लाए साइड में।
  • ऐसे 30 बार करे फिर आराम करे।
  • इसी तरह के 4 सेट्स करे।

  • ये सभी एक्सरसाइज स्पेशली चेस्ट के मसल्स को बढ़ाने के लिए की जाती है। ये सभी एक्सरसाइज करने से आपकी ब्रेस्ट के टिश्यू को इम्प्रूव करती है जिसे ब्रेस्ट साइज टाइट और बड़ी होती है। जिन लड़कियों की ब्रेस्ट लटक गई है वो इसी एक्सरसाइज करके अपने ब्रेस्ट को टाइट बना सकती है।
  • ध्यान दे. सिर्फ एक्सरसाइज करने से अपने ब्रेस्ट टोन होते है यानी टाइट और ऊंचे होते। अगर आपके ब्रेस्ट नही बढ़ते तो आप इन एक्सरसाइज को पूरा अभ्यास कर के कर सकती है साथ में अपने जीवन शैली पर भी ध्यान दे। याद रखे अगर आपको मेरी जानकारी समझने में नही आई तो आप प्रोफेशनल ट्रेनर की मदद ले।


ब्रेस्ट बढ़ाने के लिए क्या खाना चाहिए – breast badhane ke liye kya khana chahiye

आपके ब्रेस्ट किसी कारण बड़े नही होते। आप अपने ब्रेस्ट की साइज को बढ़ाना चाहती है तो आप भरपूर पोषण तत्वों से भारी चीजों का सेवन करे, जिसे आपके ब्रेस्ट टिश्यू को पोषण मिलेंगे। अगर आप ब्रेस्ट बढ़ाने के लिए क्या खाए जानना चाहती है तो या जो जानकारी दी है उसे ध्यान से पढ़े और समझे फिर उस पर अमल करे। जरूर आपके ब्रेस्ट टिश्यू को पोषण मिलेगा और आपके ब्रेस्ट की साइज जल्द से जल्द बढ़ेंगी।

जल्द से जल्द ब्रेस्ट साइज बढाने के लिए सेवन में अनाज, फल और सब्जियों का इस्तेमाल करे जिसमे कार्बोहाइड्रेट्स (carbohydrates), प्रोटीन, फैट्स, विटामिन, मिनरल्स और पानी हो। में आपको स्टेप बाय स्टेप बताता हु के जिसमे ये सारी न्यूट्रीशन होते है।

सबसे पहले कार्बोहाइड्रेट्स किसमे होते है उसके बारे में जानते है।

1. कार्बोहाइड्रेट्स (Carbohydrates)

  • अनाज में चावल, घेहू, ओट्स, मक्का और राई में भरपूर मात्रा में कार्बोहाइड्रेट्स होता है जो ब्रेस्ट टिश्यू को पोषण देता है।
  • फलों में सफरजन, केला, अंगूर, ऑरेंज, आम और अनानास में भरपूर मात्रा में कार्बोहाइड्रेट्स होते है जो ब्रेस्ट टिश्यू को पोषण देते है
  • सब्जियों में आलू, मटर, गाजर, शकरकंद, शिमला मिर्च और प्याज में भरपूर मात्रा में कार्बोहाइड्रेट्स होते है जो ब्रेस्ट टिश्यू को पोषण देते है।

2. प्रोटीन (protein)

  • अनाज में चना, सोयाबीन, दालें, उड़द दाल, मूंग दाल, काले राजमा, ब्राउन राइस और जौं में प्रोटीन भरे होते है जिसका सेवन करने से ब्रेस्ट टिश्यू को पोषण मिलता है और ब्रेस्ट साइज बढ़ती है।
  • फ्रूट्स में कीवी, अमरूद, काली बेरी, कटहल, अनार, एवोकैडो, कटहल, रास्पबेरी में प्रोटीन भरे होते है जिनका सेवन करने से ब्रेस्ट टिश्यू को पोषण देते है और ब्रेस्ट साइज में बढ़ावा होता है।
  • सब्जियों में मटर, मेथी की पत्तियां, पालक, कमल ककड़ी, कद्दू, गवार फली, गोभी, शिमला मिर्च, तोरी, करेला, परवल, मशरूम और चोली में प्रोटीन भरपूर मात्रा में होते है जिसका रोजाना सेवन करने से ब्रेस्ट टिश्यू को पोषण मिलता है। ब्रेस्ट टिश्यू को पोषण मिलेगा तो जरूर जल्द से जल्द आपके ब्रेस्ट साइज में बढ़ौती होगी।

3. फैट्स

  • अनाज में जौ,बाजरा, मूंगफली, सोयाबीन, चने की दाल, मूंग की दाल और घेहु का आटा में भरपूर मात्रा में अच्छे फैट्स होते है। इनका रोजाना सेवन करने से ब्रेस्ट टिश्यू और मसल्स को भरपूर पोषण मिलता है जिससे ब्रेस्ट बड़े होते है।
  • फ्रूट्स में काजू, बादाम, अखरोट, पिस्ता, तील, एवोकाडो, फ्रूट्स में अच्छे फैट्स भरपूर मात्रा में होते है जिसका सेवन करने से ब्रेस्ट को पोषण मिलता है और आपके ब्रेस्ट में ग्रोथ होती है।
  • सब्जियों में फैट्स नही होते। सभी सब्जियों में कार्बोहाइड्रेट्स, विटामिन, मिनरल्स होते है जो हमारे ब्रेस्ट की साइज बढ़ाने में जरूर काम करते है।

4. विटामिन और मिनरल्स

  • अनाज में चावल, जुवार, घेंहू, बाजरा, चना, मूंग और उड़द में भरपूर मात्रा में विटामिन और मिनरल्स होते है जिसका रोजाना सेवन करने से ब्रेस्ट मसल्स और टिश्यू को पोषण मिलता है जिससे ब्रेस्ट बड़े होते है।
  • फ्रूट्स मेंआमला, गौआ, पपैया, आम, ऑरेंज, केला, अनार, कीवी, तरबूज, अनानास, अंगूर, जामुन और कटहल में भरपूर मात्रा में विटामिन और मिनरल्स होते है।
  • सब्जियों मेंपालक, गाजर, शक्करकंद, टमाटर, शिमला मिर्च, फूल गोभी, भिंडी और मटर में भरपूर मात्रा में विटामिन और मिनरल्स होते है।

आप अपनी ब्रेस्ट साइज को बढ़ाने के लिए ऊपर बताई गई सभी चीजों का सेवन कर सकते है। इन सभी अनाज, फल और सब्जियों में वो न्यूट्रीशन होते है, जो ब्रेस्ट मसल्स और टिश्यू को पोषण देते है जिसके कारण ब्रेस्ट साइज में जल्द से जल्द बढ़ौती होती है। आपकी ब्रेस्ट साइज में 7 दिनों में फर्क नजर आएगा।

आप अपनी ब्रेस्ट साइज बढ़ाना चाहती है तो आप इन सभी चीजों को ध्यान से पढ़े और समझे आपको जरूर फायदा होगा।


इसे भी जाने: पेट कम करने की दवा


ब्रेस्ट साइज कैसे बढ़ाएं घरेलू उपाय

ब्रेस्ट साइज कैसे बढ़ाएं उसके घरेलू उपाय के कुछ प्रमुख उपाय यहां दिए गए हैं जिसे फॉलो करके आप ब्रेस्ट साइज बढ़ा सकती हो।

1. स्वस्थ आहार

शरीर के लिए स्वस्थ आहार लेना बहुत जरूरी है। ब्रेस्ट साइज बढाने के लिए आप कार्बोहाइड्रेट्स, मल्टीविटामिंस, मिनरल्स और प्रोटीन वाले स्वस्थ आहार ले। ये सारे पोषण तत्व ब्रेस्ट साइज बढाने में मदद करेंगे। 

2. अलसी के बीज

अलसी के बीज में एस्ट्रोजन हार्मोन का कुदरती तौर पर भरपूर होता है। एस्ट्रोजन हार्मोन ब्रेस्ट बढ़ने का काम करते है। अलसी के बीज खाने से बहुत जल्द ब्रेस्ट में डेवलपमेंट होती है।

3. तेल की मसाज

घर पर ही रह कर अपने ब्रेस्ट की मसाज करे। ब्रेस्ट मसाज करने के लिए ऐसा ऑयल का इस्तेमाल करे जिसका कोई साइड इफेक्ट्स न हो। में आपको रिकमेंड करूंगा सबसे अच्छा मसाज करने के लिए जैतून का तेल ( Olive oil) है। जो ब्रेस्ट में लोही का प्रवाह बढ़ता है। ब्रेस्ट साइज जल्दी से बढ़ाने का काम करता है।

4. एक्सरसाइज करे

मेने आपको ऊपर ब्रेस्ट साइज बढाने की जितनी एक्सरसाइज बताई है वो सभी अपने घर में रहकर कर सकती है। इन एक्सरकाइज का रेगुलर अभ्यास करने से ब्रेस्ट के हार्मोन एक्टिव रहते है और ब्रेस्ट मसल्स को इंप्रूव करते है, जिसे ब्रेस्ट साइज बढाने में मदद मिलती है।

5. पानी ज्यादा पिए

अपने शरीर में पानी का बड़ा महत्व पूर्ण कार्य होता है। शरीर के सभी स्नायु, मसल्स और हड्डियां अच्छे से कम करे उसके लिए पानी का मिलना बहुत जरूरी है। पानी हार्मोन को नियंत्रण में रखता है। इस लिए पानी पीने से ब्रेस्ट के मसल्स में जो कमजोरी होती है वो ठीक होती है और खून का प्रवाह सही से होता है।

6. स्वस्थ जिंदगी जिए

अपनी जिंदगी को स्वस्थ बनाए। जीवन में पोष्टिक आहार, तनाव से दूर रहे। एक्सरसाइज करे, पूरी नींद ले, और कोई भी कार्य में व्यस्त रहे। शरीर में ज्यादा सुस्ती न आने दे। सुस्ती शरीर में बीमारी पैदा करती है।

7. टाइट ब्रा पहनना छोड़ दे

टाइट ब्रा पहनने से ब्रेस्ट की मसल्स और स्नायु में दबाव होता है, जिसे ब्रेस्ट में सही से ब्लड का प्रवाह नही होता। ब्रेस्ट में जितना अच्छा ब्लड का प्रवाह रहेगा उतना ब्रेस्ट मसल्स और स्नायु को पोषण मिलेगा तो आपकी ब्रेस्ट की साइज में जल्द से जल्द डेवलपमेंट होगा और आपकी ब्रेस्ट की साइज एक स्वस्थ ब्रेस्ट साइज होगी जिसका कोई साइड इफेक्ट नहीं होता।


ब्रेस्ट साइज बढाने की क्रीम – Breast Size Badhane Ki Cream

अब यहाँ वो जानेंगे जो क्रीम ब्रेस्ट साइज बढाने का मुख्य काम करती है। ये क्रीम ऑर्गेनिक और आवुर्वेदिक है। जिसका इस्तेमाल बिना हिचकिचाए आप कर सकती है।

1. EIBHC Women Health Bosom breast cream Supplement with 100% Natural and No Side effects (Cream (100 gm))

breast size kaise badhaye - breast size kaise badhaye exercise - breast size kaise badhaye medicine - breast size kaise badhaye in hindi - breast size kaise badhaye oil - breast size kaise badhaye gharelu upay - breast size kaise badhaye tablet - Breast size kitna hona chahiye -Breast na badhne ke Karan - Breast size kaise badhaye diet - breast size increase cream.

Buy Now At Amazon


  • ये EIHBC Breast Destressing क्रीम अल्कोहल फ्री है। ये सभी तरह की स्किन पर फायदा कारक है। किसी भी स्किन पर कोई इस क्रीम का साइड इफेक्ट्स नही होता। ये EIHBC ब्रेस्ट बेस्ट्रेसिंग क्रीम आयुर्वेदिक है। इस क्रीम का इस्तेमाल आप बेफिक्र होकर कर सकते है।
  • इस्तेमाल कैसे करे
  • ब्रेस्ट के पूरे एरिया पर इस क्रीम का मसाज 10 से 20 मिनट तक मसाज कर के छोड़ दे।
  • और जानकारी हासिल करने के लिए आप Amazon पर जा सकते है।

2. 7 Days Breast Destressing Cream for Women- Lavender Oil and Rosehip Cream | Body Massage Cream - 100gm

breast size kaise badhaye - breast size kaise badhaye exercise - breast size kaise badhaye medicine - breast size kaise badhaye in hindi - breast size kaise badhaye oil - breast size kaise badhaye gharelu upay - breast size kaise badhaye tablet - Breast size kitna hona chahiye -Breast na badhne ke Karan - Breast size kaise badhaye diet.


Buy Now At Amazon

  • 7 Days Breast Destressing Cream आयुर्वेदिक और नेचुरल है, जिसका कोई साइड इफेक्ट्स नही हैं।
  • ये क्रीम सभी तरह की स्किन पर लगा सकते है। इसकी मसाज करने से 7 दिनों में ब्रेस्ट की साइज बढ़नी लगती है।
  • इस्तेमाल कैसे करे
  • ब्रेस्ट के पूरे हिस्से में इस क्रीम की मसाज करे। मसाज 10 मिनट तक करे उसके बाद ऐसे ही छोड़ दे।
  • और जानकारी हासिल करने के लिए आप Amazon पर जा सकते है।

Conclusion:

ब्रेस्ट साइज कैसे बढ़ाएं उसके लिए एक्सरसाइज, डाइट, क्रीम और उपाय के बारे में यहां आपको पूरे पूरी और फायदा कारक जानकारी दी है आप जरूर समझ गए होंगे। अब आप बिंदास अपने ब्रेस्ट की साइज को बढ़ा सकती है। आपको और कोई सवाल पूछना हो तो हमे कॉमेंट करे जरूर जवाब दिया जायेगा। ऐसी और जानकारी हासिल करने के लिए mostzindagi.com से जुड़ी रहे। Thankyou

और जरूरी जानकारी जाने